Moral Story in Hindi very short - आत्मविश्वास की ताकत

Moral Story in Hindi very short - आत्मविश्वास की ताकत

Moral story in Hindi very Short :-  Stories are the best teacher of kids. They learn many moral values from this type of moral stories in Hindi very short. Today I am here sharing a Moral story in Hindi very short titled as "Aatmvisvas ki Takat". I hope you will like this Hindi short story with moral very short. 😊

आत्मविश्वास की ताकत - Aatmvisvas ki takat - Inspirational Moral Story in Hindi very short


Moral Story in Hindi very short


एक सज्जन व्यक्ति मार्ग से गुजर रहे थे। तभी वे एक हाथी शिविर (जहाँ हाथियों को रखा जाता है), और उन्होंने देखा कि हाथियों को पिंजरों में ( Moral Story in Hindi ) नहीं रखा गया है और नाही उन्हें बंधने के लिए मोती मजबूत जंजीरों का इस्तेमाल किया गया है। 

उस सिविर में हाथियों को बंधने क लिए जो चीज इस्तेमाल की गयी है वो है एक कमजोर सी मामूली रस्सी, ( Hindi Short Story ) जो उन्हें उस हाथी सिस्विर से भागने से रोके हुई थी। हाथियों के एक पैर में रस्सी का एक छोटा सा टुकड़ा बंधा हुआ था। 

जैसा ही उस सज्जन व्यक्ति ने हाथियों पर ध्यान दिया,( Inspirational Moral Stories ) वह पूरी तरह से उलझन में था कि हाथियों ने रस्सी को तोड़ने और शिविर से बचने के लिए अपनी ताकत का उपयोग क्यों नहीं किया। वे आसानी से ऐसा कर सकते थे, लेकिन इसके बजाय, उन्होंने बिल्कुल भी कोशिश नहीं की। ( Moral Story )

जिग्यांसू होकर और इस उलझन का जवाब जानने के लिए, उन्होंने पास के एक ट्रेनर से पूछा कि हाथी सिर्फ वहां क्यों खड़े थे और कभी भागने की कोशिश नहीं की।

ट्रेनर ने जवाब दिया: "जब वे बहुत छोटे थे तो हम उन्हें बाँधने के लिए इसी प्रकार की रस्सी का उपयोग करते थे और उस उम्र में उन्हें भागने से रोकने के लिए ये रस्सी काफी होता था।" जैसे-जैसे वे बड़े होते गए, ( Motivational Story in Hindi ) उन्हें विश्वास होता गया कि वे उस रस्सी को नही तोर सकते। हाथियों को लगता है कि ये रस्सी अभी भी उन्हें पकड़ सकती है, इसलिए वे कभी भी इस रस्सी को तोड़ने की कोशिश ही नहीं करते। ”

हाथियों के मुक्त ना हो पाने और शिविर से न भागपने का एकमात्र कारण यह था कि समय के साथ उन्होंने यह विश्वास की उस रस्सी को तोर कर भागना उनके लिए संभव नही है। यद्यपि अगर हाथी चाहते तो आसानी से उस रस्सी को तोर कर आज़ाद हो सकते थे। परन्तु उन्होंने कभी ऐसा करने का प्रयास ही नही किया और वहीं उसी कैद में रह गये। 

Moral Story in Hindi very short


सीख:-

अगर हमारे अन्दर आत्मविश्वास हो तो हम कोई भी काम चाहे वो कठिन ही क्यों न हो फिर भी उसे आसनी से एवं सफलता पूर्वक कर सकते है, परन्तु अगर हमारे में आत्मविश्वास ही नही होगा तो हम कोई आसन कार्य भी नही कर सकते। हमे हमेसा खुद पे भरोसा रखना चाहिए कोई भी ऐसा कार्य नही है जो इन्सान नही कर सकता, अगर आत्मविश्वास और मेहनत से कोई कार्य किया जाये तो वो अवश्सय सफल होता है। 

Moral of this Hindi Short Story:- 

 
If we have self-confidence, then we can do any work, even if it is difficult, but it can be done easily and successfully, but if we do not have confidence, then we cannot do any posture. We should always trust in ourselves, there is no such thing which a person cannot do, if any work is done with confidence and hard work then it is always successful.


Thank you so much for reading this moral story in Hindi very short. I hope you enjoyed this moral story in Hindi very short and also learn a lesson from this short story in Hindi. Click below to read more:-

Post a comment

–>